flower, my click, poem, With Nature

Pic : 160 : Village Of Rose , RW ~ 121

pic-160.JPEG

Pic : Self

फूल खिल रहा है ,
कली हँस रही है ,
धूप और छाँव है ,
हर क़दम खुशहाली है ,
गुलाब का गाँव है ।

Translation :
The flower is blooming ,
The bud is laughing ,
Sunshine and shadow is ,
The village of rose is .

©️ gayshir 2018