Tag Archives: my pen

my creation

Poem: 108: Malice And Love

Born of two,

Joyous atmosphere.

On one die,

Very happy,

On the other’s death –

Very weeds,

For goodness –

All are free,

For evil,

Global stopping.

अनुवाद :

दो का जन्म,

ख़ुशी का माहौल.

एक के मरने पर,

बहुत ख़ुशी,

दूसरे के मरने पर –

बहुत मातम,

अच्छाई के लिए –

सभी स्वतंत्र हैं,

बुराई के लिए,

वैश्विक रोक है.

© gayshir 2019

Advertisements

Thought #105: Judgement

Nature always does justice to all,

Nature does not do injustice to anyone,

There are sorrow in the world from its beginning –

There are also opportunities to be cheerful here.

अनुवाद :

प्रकृति सदा सभी के साथ न्याय करती है,

प्रकृति किसी के साथ अन्याय नहीं करती है,

संसार में दुःख है इसके प्रारंभ से –

यहाँ प्रफुल्लित होने के भी अवसर मिलते हैं.

© gayshir 2019