artpens

poetry

Poetry #135

Poster
Poster
होश में हासिल अक़्ल काम आता है।
दीये का प्रकाश दूर तक जाता है।
/
Consciously achieved wisdom comes in handy.
The light of the lamp goes far.

© 2022 artpens.net

Poetry #133

Poster
Poster
ज़िन्दगी मिलती है, चलने का काम मिलता है।
बेहतर काम का, बेहतर इनाम मिलता है।
/
Life meets, meets work of walk.
Of the better work, meets better reward.

© 2022 artpens.net

Poetry #132

Poster
Poster
इधर तेरे शहर की हवा चल रही है।
आपके सलामती की दुआ चल रही है।
/
Here the wind of your city is blowing.
Prayer is going on for your well being.

© 2022 artpens.net

Poetry #130

Poster
Poster
आईने में आपकी तस्वीर थी।
उसके साथ ख़ूबसूरत तक़दीर थी।
/
There was a picture of you in the mirror.
There was a beautiful fate with him.

© 2022 artpens.net

Pretty #129

Poster
Poster
यह मुहब्बत का असर है।
वह एक ख़ूबसूरत शहर है।
/
This is the effect of love.
That is a beautiful city.

© 2022 artpens.net

Poetry #126

Poster
Poster
मुहब्बत से कुछ भी आसान हो जाता है।
मायूस चेहरे पर मुस्कान छा जाता है।
/
Anything becomes easy with love.
A smile appears on the sad face.

© 2022 artpens.net

Poetry #124

Poster
Poster
हाथ, हाथ को पहचानता है।
किसने क्या कहा, ये जानता है।
/
The hand recognized the hand.
He knows who said what.

© 2022 artpens.net

4R: 32: Away From The City

Poster
Poster

कार अंधेरे से गुज़रती है।

सफर एक सुरंग में होती है।

सड़क किनारे पत्ते बोलते हैं –

वहाँ एक लहर सी चलती है।

/

The car runs through the darkness.

The journey takes place in a tunnel.

The leave on the road side speak –

There a wave moves.

© 2022 artpens.net

4R: 31: Quiet

Poster
Poster

क्यूँ ख़ामोश हो?

क्यूँ नाराज़ हो?

ख़ास बात है —

आप आज हो।

/

Why are you silent?

Why are you angry?

The special thing —

You are today.

© 2022 artpens.net

Poetry #123

वक़्त मिलते ही वह आपसे मिलता है।

आपसे मिलकर फूल की तरह खिलता है।

/

He meets you when the time comes.

Blooms like a flower with you.

© 2022 artpens.net

Poetry #121

Poster
Poster

अब उनसे मुलाक़ात नहीं होगी।

चर्चा में वो बात नहीं होगी।

/

Will not meeting him now.

Will not exist that matter in the discussion.

© 2022 artpens.net

Poetry #120

Poster
Poster

युद्ध का विराम होना चाहिए।

ख़ुशी का इंतजाम होना चाहिए।

/

There must be a stop to the war.

Happiness should be arranged.

© 2022 artpens.net

4R: 28: What’s Up?

Poster
Poster

छोटा हो रहा है।

बड़ा हो रहा है।

युद्ध हो रहा है —

बुरा हो रहा है।

/

Getting smaller.

Getting bigger.

War is going on —

It’s getting worse.

© 2022 artpens.net

Poetry #119

Poster
Poster
तुम न मिलो, कोई बात नहीं।
तुम दुखी हो, अच्छी बात नहीं।
/
You don't meet, no problem.
You are sad, not a good thing.

© 2022 artpens.net

Poetry #117

Poster
Poster
उस चोट में, अब दर्द नहीं होता है।
जो बर्दाश्त नहीं करता, वह मर्द नहीं होता है।
/
In that injury, it no longer hurts.
One who does not tolerate, is not a man.

© 2022 artpens.net

Poetry #116

Poster
Poster
कहीं ख़ुशियाँ और कहीं मातम है।
इस एक दुनियाँ में दो आलम है।
/
Somewhere there is happiness and somewhere there is sadness.

There are two stages in this one world.

© 2022 artpens.net