Category Archives: poem

P.: Celebrate Festival…

Celebrate the festival,

Do nourished to flower,

Of years, broken up –

Match up with you.

Afflication will be negligible,

As well as other –

Dirt will be washed,

In mind,

In body,

With everyone’s life –

Happiness will be meet.

अनुवाद :

पर्व मनाएं,

पुष्प खिलाएं,

वरर्षों के, बिछड़े हुए को –

अपनों से मिलाएं।

दुःख नगन्य होगा,

साथ ही अन्य –

मैल धोया जाएगा,

मन में,

तन में,

सभी के जीवन से –

सुख मिल जाएगा।

© gayshir 2019

Poem: Sorrow

Gets the news –

Woe is happening,

War is on,

The soldiers are dead,

Terrorism is fulfilmenting.

अनुवाद :

ख़बर मिलती है –

शोक हो रहा है,

युद्ध जारी है,

सैनिक मर रहे हैं,

आतंकबाद पल रहा है।

© gayshir 2019

Poem: New Hopes

The night is passing,

I’m awake,

After a few hours –

The day will meet me.

The new day lives –

With new hopes.

अनुवाद :

रात बीत रही है,

मैं जाग रहा हूँ,

कुछ घंटों बाद –

मुझसे दिन मिलेंगे।

नया दिन रहता है –

नई आशाओं के साथ।

© gayshir 2019

Uncertainty/अनिश्चितता

No any definiteness –

Which soldiers?

Will be martyred!

Against terrorism,

In the ongoing fight –

Will not be able to return home.

अनुवाद :

कोई निश्चितता नहीं –

कौन से सैनिक?

शहीद हो जाएंगे!

आतंकवाद के विरुद्ध,

जारी लड़ाई में –

घर नहीं लौत पाएंगे।

© gayshir 2019

Our Lovely Languages

First voice,

Mother language –

Naive look,

Very lovely,

My language,

Your language,

Mother toungue.

अनुवाद :

पहली वाणी,

माँ की बोली –

भोली सूरत,

बहुत प्यारी,

मेरी भाषा,

तुम्हारी भाषा,

मातृभाषा।

By :

Hare Krishna ‘Gayshir’

On

International Mother Language Day

© gayshir 2019