artpens

Day: 6 July 2019

HPO: 27

Talk

Period passed

That is alive

© gayshir 2019

Poem: Denigrate

Nature loves with all,

Love is in all,

There are some who –

Denigrate love are,

Nothing of love worsens,

They denigrate themselves.

अनुवाद :

प्रकृति सभी से प्यार करती है,

सभी में प्रेम समाहित है,

कुछ ऐसे हैं जो –

प्यार को बदनाम करते हैं,

प्यार का कुछ नहीं बिगड़ता,

वे स्वयं को बदनाम करते हैं।

© gayshir 2019