आशा और हताशा/Hope and Disperation

Share this…FacebookPinterestTwitterLinkedin Image:Google आशा है- प्रतीक्षा में, प्राण है, प्रकाश है, नई भोर, और भी- बहुत कुछ, सचमुच है। निराशा है- हताशा में, अंधेरा है, मृत्यु का- घेरा है, डेरा है- हीनता का, दीनता का,

event_note
close

Share this…FacebookPinterestTwitterLinkedin Image:Google आशा है- प्रतीक्षा में, प्राण है, प्रकाश है, नई भोर, और भी- बहुत कुछ, सचमुच है। निराशा है- हताशा में, अंधेरा है, मृत्यु का- घेरा है, डेरा है- हीनता का, दीनता का,

folder_open poem
Read more