धुन्धली रात

कोहरे से भरी रात,  कठिन होती सरल बात,  बेदम होती है रौशनी,  दूर एक रंग-सात।            :- गयशिर Advertisements

Advertisements
event_note
close

कोहरे से भरी रात,  कठिन होती सरल बात,  बेदम होती है रौशनी,  दूर एक रंग-सात।            :- गयशिर Advertisements

Advertisements
folder_open uncategorized
Read more