आज का

दो दिन बाद दोपहर के, कुछ देर को धूप निकली, राहत मिली देख के, धुंधलके की ज़िद्द छूटी. Advertisements

Advertisements
event_note
close

दो दिन बाद दोपहर के, कुछ देर को धूप निकली, राहत मिली देख के, धुंधलके की ज़िद्द छूटी. Advertisements

Advertisements
folder_open uncategorized
Read more